भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Palaeobotany Definitional Dictionary (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

< previous123Next >

Gametangium

युग्मकधानी
अंग जो युग्मक का उत्पादन तथा धारण करता हैं जैसे पुंधानी, स्त्रीधानी।

Gametophyte

युग्मकोद्भिद्
पोधा जो युग्मकों का उत्पादन करता है। इसमें जनन अंग होते हैं तथा यह अगुणित पीढ़ी का सदस्य है।

Gangamopteris

गैंगेमॉप्टेरिस
संवहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के ग्लॉसोप्टेरिडेलीज़ गण का एक अनंतिम वंश। पर्मियन युग की इन पत्तियों में स्पष्ट मध्यशिरा नहीं होती।

Geasterites

जीऐस्टराइटीज़
गैस्टेरोमाइसिटीज़ वर्ग के कवकों का एक वंश। तृतीयक युग के ये कवक कोलराडो में पाए गए।

Geinitzia

गाइनित्सज़िया
संवहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के कोनीफरेलीज़ गण का एकअनंतिम वंश। मीसोज़ोइक युग की ये पत्तियाँ सुई जैसी होती हैं।

Gemini-

मिथुन—, युग्म
(शब्द संयुतियों में) जोड़ों में; जैसे मिथुन कॉल्पसी (जोमिनील्कॉपेट)।

Gemma

जेम्मा
(1) अलैंगिक कलिका (लिबरर्टों की)

General exine

सामान्य एक्साइन
=synexine

Geniculus

जालुक
घुटने के जोड़ सरीखी एक नति, जो सल्कस सिल्कस सिम्प्लैक्स में दिखाई देती है।

Genus

वंश
जीवों के वर्गीकरण की एक कोटि जो कुल से नीचे और जाति (स्पीशीज़) से ऊपर होती है अर्थात् कई जातियाँ मिलकर एवं वंश बनाती हैं और कई वंश मिलकर एक कुल। द्विपदी नामकरण में प्रथम पद वंश का नाम होता है। उदा. ग्लॉसोप्टेरिस

Germinal aperture

अंकुरण-रन्ध्र
= germ pore

Germinal apparatus

अंकुरण समुच्चय
परागाणु की वे संरचनाएँ, जो पराग नलिका के परिवर्धन में सहायक होती हैं।

Germinal pore

अंकुरण-रन्ध्र
= Germ pore

Germ pore

अंकुरण-रन्ध्र
पराग के आवरण में गोल छेद, जिसमें से होकर पराग-नलिक निकलती है। सामान्यतया यह खात-झिल्ली में होता है।

Gigantea

विशाल
दे. pize class

Ginkgodium

गिंक्गोडियम
संवहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के गिक्गोएलीज़ गण का एक अनंतिम वंश। जुरैसिक युग की ये पत्तियाँ चम्मच सरीखी होती हैं।

Ginkgoites

गिंक्गोआइटीज़
संवहनी पादपों के जिम्नोस्पर्मोप्सिड़ा वर्ग के गिंक्गोआइटीज गण का एक अनंतिम वंश। ट्राइएसिक व तृतीयक युग की इन में पत्तियों में दो पालियां, में स्पष्ट वृन्त और दो आरेश (ट्रेस) होते हैं। ये आधुनिक वंश गिंक्गो की पत्तियों से काफी हद तक मिलते हैं।

Glacial epoch

हिम युग
भूवैज्ञानिक कालानुक्रम में वह जिसमें अधिकांश भूभाग हिमाच्छादित था। प्लाइस्टोसीन की समकालिक इस अवधि में तापमान में गिरावट तथा वनस्पति जगत में कई उथल-पुथल हुए।

Gleiechenites

ग्लाइकेनाइटीज़
संवहनी पादपों के फिलिकॉप्सिड़ा वर्ग का एक वंश। मीसोजोइक युग के इस पर्णांग की पत्तियाँ ग्लाइकेनिया सरीखी होती है जिनमें पैकॉप्टेरिड प्रकार का पिच्छक होता है।

Global

गोलकीय
(रंध्र) परागाणु की संपुर्ण सतह में वितरित।
< previous123Next >
Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App